Thursday, August 18, 2011

| जागो भारत जागो |

| जागो भारत जागो |



सरकारी मिडिया को तो देखो सर्कार का पक्ष लेरहें है। सर्कार का पक्ष लेने वाले लोगों से चर्चा करा के माहोल सर्कार के पक्षमे करना चाहतें है. लोगों को गुमराह कर रहें है की अन्ना जी को सब्र से kaam लेना चाहिए था. अब इनको कोन बताये की ४०-४५ साल का सब्र कम होता है क्या? और ये कहतें है की बिल पार्लियामेंट में है यंहां चर्चा होगी आयर यंहां सभी को अपनी बात कहने के बाद बिल पास होगा लेकिन इनको ये तो पता होना चाहिए की एक बार पार्लियामेंट मर बिल आने की बाद उसमे ज्यादा फेर बदल संभव नहीं होता. कपिल सिब्बल कहता है की हम भी कोर्रुप्तिओन से लड़ना चाहतें है पर बात लड़ने की नहीं बात यंहां अटकी है की अन्नाजी अपन बिल पास करना चाहतें है. लेकिन हम बतादे कपिल को की जन लोकपाल बिल अन्नाजी का नहीं जनता का है और जनता चाहती है की जन लोकपाल बिल.........